चेहरे और अल्फाज

चेहरे और अल्फाज दोनो,
खूबसूरत हुआ करते है,
रूहानियत हो तो दिलों
पर राज किया करते है,
चेहरे और अल्फाज,
अक्सर एक समान
हुआ करते है,
जुड़े होते है खुशी
और गम से,
बस अपनी ही मौजों
मे रहा करते है,
चेहरे और अल्फाज,
अक्सर खूबसूरत
हुआ करते है,
व्यक्तित्व के आइने,
हुआ करते है,
यूँ ही इंसान को निखार
दिया करते है,
चेहरे और अल्फाज,
अक्सर एक समान,
हुआ करते है,
पर ये बात कुछ और
है कि कभी रुठ जाया
करते है,
और कभी खामोश
हुआ करते है,
चेहरे और अल्फाज,
अक्सर खूबसूरत हुआ
करते है,
दोनो जज्बातों को,
बयां किया करते है,
खुशी और गम मे,
दोनो रोया करते है,
मीलों दूर होकर भी,
मन के फासले कम,
किया करते है,
चेहरे और अल्फाज,
अक्सर खूबसूरत हुआ,
करते है,
दोनो मन के राज,
खोला करते है,
चेहरे और अल्फाज,
एक समान हुआ,
करते है,
रुह से जुड़कर सच,
बयां करते है।

Advertisements

3 thoughts on “चेहरे और अल्फाज

Comments are closed.